YouTube ने Third Party App Ad Blocker के खिलाफ लिया बड़ा कदम

YouTube अपनी लड़ाई को नए अवतार में लेकर आया है। इस बार, यह लड़ाई स्मार्टफोनों पर भी पहुंचेगी। एक अपडेट के माध्यम से YouTube ने सोमवार को जताया कि तीसरे पक्ष के एड ब्लॉकिंग ऐप्स के माध्यम से वीडियो देखने वाले उपयोगकर्ताओं को बफ़रिंग समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है या उन्हें एक त्रुटि संदेश दिखाई दे सकता है, जो कहता है, “निम्नलिखित सामग्री इस ऐप पर उपलब्ध नहीं है।”

पिछले साल, YouTube ने एक वैश्विक प्रयास शुरू किया था, जिसमें वह उपयोगकर्ताओं को वीडियो देखते समय विज्ञापनों को अनुमति देने या YouTube प्रीमियम में अपग्रेड करने के लिए प्रोत्साहित करता था। उसने विज्ञापन ब्लॉकिंग एक्सटेंशन सक्षम उपयोगकर्ताओं के लिए वीडियो को अक्षम कर दिया था।

लेकिन अब, यूट्यूब ने एक नया कदम उठाया है और कहा है कि उसकी नीतियाँ “तीसरे पक्ष के एप्स को विज्ञापनों को बंद करने की अनुमति नहीं देती है क्योंकि यह सृजनकर्ता को दर्शकता के लिए पुरस्कृत नहीं होने देती है।” इससे तीसरे पक्ष के एड ब्लॉकर्स को लक्ष्य बनाया गया है जो YouTube के API का उपयोग करके वीडियो प्राप्त करते हैं।

YouTube ने अपने API सेवाओं की शर्तों की उल्लंघन पर ध्यान दिया है और तीसरे पक्ष के एप्स का उपयोग संरक्षित करने के लिए आवश्यक कदम उठाने का वायदा किया है। इसने जताया कि तीसरे पक्ष के एप्स को उसकी API तक पहुँच बनाए रखने के लिए उसकी API सेवाओं की शर्तों का पालन करना होगा।

यह नवीनतम घोषणा यूट्यूब के जारी प्रयासों का प्रतिबिंबित करती है जो निर्माताओं के लिए एक सतत पारिस्थितिकीय पारिस्थितिकीय प्रणाली बनाए रखने की दिशा में हो रहे हैं, जबकि विश्वव्यापी दर्शकों को उत्कृष्ट सामग्री प्रदान करने की दिशा में।

Read This Article Also:

Here the Best Oppo Smartphones Under 30,000 Rupees in india

Leave a Comment